Follow by Email

Followers

Tuesday, 5 March 2013

धोनी के सफलता का राज़!


                                     
सैमसन और डिलाइला की कहानी तो आपने सुनी होगी, इस पर एक फिल्‍म भी बन चुकी है....अगर नहीं सुनी तो अब सुनिए और सोचिए, ये आपको किसकी याद दिलाती है.....सैमसन एक महाशक्तिशाली पुरुष था, काफी  मन्नतों के बाद पैदा हुआ ये हीरो कईयों के लिए भगवान समान था.....परम शक्तिशाली योद्धा जो सिर्फ हाथों से शेरों का संहार कर देता था....ईश्वर ने एक शर्त पर उसे ये ताकत दी कि सैमसन कभी भी अपने बालों को नहीं काटेगा....सैमसन भगवान के बताए रास्ते पर चलता रहा.....वो एक बार में सैकड़ों दुश्मनों को धूल चटा देता.....युद्ध की अनूठी रणनीति से गांव के गांव तबाह कर देता.....फिर उसे डिलाइला नाम की एक लड़की से प्यार हो गया और जल्द ही दोनों ने शादी कर ली.....पर दुश्मनों ने उसकी पत्नी को सिक्कों से खरीद लिया और काम दिया सैमसन की अकूत शक्ति का राज़ जानने का.....पहले कुछ दिन तो सैमसन अपनी पत्‍नी को टालता रहा पर बहुत मानने के बाद उसने सच बता दिया....उस रात डिलाइला ने सैमसन के सारे बाल मुंडवा दिए.....सैमसन की पूरी शक्ति खत्म हो गई और उसे कैद कर लिया गया....सैमसन ने प्रायश्चित्त किया.....अपने बाल दोबारा उगाए और फिर ईश्वर से बस एक बार के लिए अपनी शक्ति वापस मांग ली....इस कहानी को सुनकर एक अजीब सा इत्तेफ़ाक का अहसास होता है.....विश्व कप की अगली सुबह याद आती है.....महेंद्र सिंह धोनी का सफ़ाचट सर याद आता है और याद आती है....उसके बाद की लाचारी.....जब धोनी को एक के बाद एक सीरिज में हार का सामना करना पड़ा और चारों तरफ उनकी कप्तानी की आलोचना होने लगी....लेकिन अब धोनी दोबारा अपना बाल बढ़ा रहें हैं....और दोबारा अपने रंग में लौट रहें हैं....लेकिन इस कहानी का अंत अभी बाकी है....अब देखना ये है कि इस कहानी का अंत क्य होता है?